Sunday , June 16 2019
Breaking News
Home / States / लोकसभा 2019:महागठबंधन मैदान में उतरा; रैली की भीड़ सत्ता पक्ष को परेशान करनेवाली

लोकसभा 2019:महागठबंधन मैदान में उतरा; रैली की भीड़ सत्ता पक्ष को परेशान करनेवाली

उत्तर प्रदेश

सहारनपुर के देवबंद में महागठबंधन की पहली ही रैली भीड़ के लिहाज से विरोधियों को परेशान करने के लिए काफ़ी थी। दलित-मुसलमान और जाट बहुल सहारनपुर इलाके में हुई इस रैली में अनुमान से कहीं ज़्यादा दो लाख के लगभग लोग जुटे और जनता में ख़ासा उत्साह नजर आया। 

भाजपा और कांग्रेस के मुकाबले में देर से शुरू हुआ चुनावी सफर पर फिर भी मजबूत शुरुआत कही जा सकती है।

भाजपा और कांग्रेस पर जमकर साधा निशाना

गठबंधन की पहली रैली में मायावती ने कांग्रेस और भाजपा पर जमकर निशाना साधा।रैली की भीड़ देखकर प्रधानमंत्री मोदी जरूर पागल हो जाएंगे।सराब जैसी और भी बाते कही जाएगी पर उसपर ध्यान नही देना है।

कांग्रेस के अध्यक्ष ने 6000 मासिक देने की योजना बताई है पर हम सभी लोगो को सरकारी और प्राइवेट क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध करायेंगे जिससे गरीबी हटाने का स्थायी हल निकलेगा।

आगे कहते हुए कहा इनके न्याय योजना के बहकावे में नही आना है।चुनाव नजदीक आनेपर ही इनको गरीबों की याद आती है इस नौटंकी को हम पहले से देखते आ रहे हैं।

साथ ही उन्होंने राफेल घोटाले का जिक्र भी किया और इसमें सीधा प्रधानमंत्री को जिम्मेदार ठहराया।

चौकीदार से छीन लेंगे चौकी: अखिलेश

एसपी मुखिया अखिलेश यादव ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि बीजेपी के नेता पहले चायवाले और अब चौकीदार बनकर आए हैं। दोनों ही बार इनका मक़सद जनता को धोखा देना था। उन्होंने कहा कि गठबंधन के लोग और जनता एक-एक चौकीदार की चौकी छीनने का काम करेंगे। मोदी के गठबंधन के बारे में महामिलावट के बयान पर अखिलेश ने कहा कि ये मिलावट का नहीं महापरिवर्तन का गठबंधन है। 

नोटबंदी और GST से व्यापारी तबाह हो चुका है और भाजपा के लिए सिर्फ लंच और मंच की व्यवस्था करने के लिए उनकी अहमियत बची रह गयी है।

बड़े बड़े धन्नासेठों को फायदा पहुँचा है और छोटे व्यापारी तबाह हो चुके है।

अखिलेश ने कहा कि महागठबंधन देश की सत्ता में और प्रधानमंत्री में बदलाव लाना चाहता है जबकि कांग्रेस अपनी पार्टी लाना चाहती है। एसपी सुप्रीमो ने कहा कि बीएसपी, एसपी की सरकारों में बिजली में बहुत काम हुआ जबकि बीजेपी ने अपनी सरकार में एक मेगावाट भी बिजली नहीं बनाई। बीजेपी की सरकार ने बिजली तो नहीं बनाई पर घर-घर कनेक्शन बाँटने की नौटंकी ज़रूर की। 

गन्ना किसानों का मुद्दा उठाया

महागठबंधन की रैली में तीनों नेताओं ने गन्ना बक़ाया भुगतान की समस्या का ज़िक्र किया। आरएलडी अध्यक्ष अजित सिंह ने कहा कि अकेले उत्तर प्रदेश के इस पश्चिमी हिस्से में 5000 करोड़ रुपये का गन्ना का भुगतान बक़ाया है और योगी सरकार मिल मालिकों पर कोई शिकंजा नहीं कस पा रही है। उन्होंने कहा कि एसपी और बीएसपी सरकारों में गन्ने का दाम बढ़ा लेकिन योगी सरकार ने इस दिशा में कुछ नहीं किया। 

नरेंद्रमोदी ने वादा करने का बावजूद भी योगी सरकार ने गन्ने के दाम नही बढ़ाए।

अजित सिंह ने कहा कि यह चुनाव प्रजातंत्र के भविष्य का चुनाव है। मोदी सरकार ने संवैधानिक संस्थाओं को पंगु कर दिया है। अंबेडकर ने संविधान में जो ताक़त हमें दी थी उसे ख़त्म नहीं होने देना है।

About Navin Jugal

Check Also

लोकसभा 2019: ‘बसपा’ ने जारी किए और 5 उम्मीदवारों के नाम

लखनऊबहुजन समाज पार्टी ने मंगलवार को आगामी आम चुनावों के लिए एक नई लिस्ट जारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *