Thursday , April 18 2019
Breaking News
Home / Country / बुदनी का एक लोकतांत्रिक योद्धा-विमलेश आर बी

बुदनी का एक लोकतांत्रिक योद्धा-विमलेश आर बी

बुदनी, मध्यप्रदेश 

मध्यप्रदेश में चुनावी सरगर्मी बहुत तेज हैं। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक बड़ा चेहरा है और पिछले ३ बार लगातार भाजपा से बानी सरकार के मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री रहे है।अब उनके सामने चुनौती है की वो अपनी चौथी पारी की शुरुआत कर पाएंगे या नहीं?

उनका १५ साल के काम का लेखा जोखा होनेवाला हैं। इसमें बहुत सा योगदान युवाओ का है।

इस चुनौती के साथ साथ अब उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती है की अपनी विधानसभा बचाना। इस विधानसभा से उनका लोगों द्वारा पुरजोर विरोध हो रहा हैं। आम तौर पे उनको मामा कहा जाता है इस तरह उनकी पत्नी को मामी भी कहते हैं। उनकी जगह उनके प्रचार में उनकी पत्नी भी लगी हुए है पर उनको भी जनता के भरी विरोध का सामना करना पद रहा है।

इसका मूल कारण बुदनी का युवा है जिसका नाम है विमलेश आर बी।

ऐसा माना जाता है की मुख्यमंत्री पद का उमीदवार चुनाव हारता नहीं हैं और उसके सामने कोई भी नया व्यक्ति चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं करता है।

पर इन सब के बावजूद विमलेश आर बी ने हिम्मत की है की अपना पहला विधानसभा चुनाव वो सीधा मुख्यमंत्री के सामने ही लड़ रहे है। इसके कारण बहुत है।

विमलेश आर बी को देख कर आप अंदाजा लगा सकते है की आज का युवा और खासकर राजनितिक युवा क्या चाहता है और उसकी उम्मीदे क्या है। आज का युवा सवाल ही नहीं पूछता बल्कि उसके जवाब भी देना जानता हैं।

इसी वजह से जनता की नब्ज पकड़ने में माहिर है विमलेश आर बी।

विमलेश आर बी अपने विधानसभा में जनसम्पर्क में बहुत ही आगे रहे है। इस वजह से जनता की मुलभुत समस्याए क्या है यह उन्होंने पहले से ही पता हैं। बुदनी में अस्पताल की जरुरत है। अच्छे इलाज के लिए बुदनी वासियों को बाहर का रुख करना पड़ता हैं। मुख्यमंत्री ही विधायक होने के बावजूद १५ साल में यही हाल रहा है बुदनी का। इस वजह से अस्पताल और स्वास्थ्य व्यवस्था इनके लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

साथ ही साथ यह युवा अलग अलग किसान आन्दोलनों के साथ जुड़ा होने के कारण किसानों  की समस्या का बहुत अच्छे से जानकारी रखते है और उसके लिए आसान रस्ते खोजने में माहिर है। किसानो को सरकार द्वारा ट्रेक्टर उपलब्ध करवाने की योजना भी इनके लिए महत्वपूर्ण हैं  ताकि सिचाई आसान हो सके और किसान पर काम हो जाए। इसी के साथ किसान के अलग अलग मुद्दे इनको शिवराज सिंह चौहान से आगे ले जाते है।

शुरुआत में निर्दलीय चुनाव में उतरने के बाअद जब अरविन्द केजरीवाल जैसे नेता का साथ मिला तो इनको जैसे पंख लग गए।फायदा यह हुआ की दिल्ली में जो शिक्षा क्रांति जैसे मुद्दे यहाँ वो सामने लेकर आये और बुदनी वासियों को अच्छे सरकारी स्कूल मिले और उनके शिक्षा का स्तर भी ऊँचा  हो जाए यह बहुत अच्छा कदम बढ़ाने की योजना भी इन्होने सम्मिलित कर ली।

युवाओ की रोजगार की बात हो या महिला सुरक्षा की,मुलभुत सुविधाओं की बात हो या किसानो के विकास की,सड़को की बात हो या स्वस्थ जीवन यापन की विमलेश आर बी जैसे युवा की सोच हमेशा कई कदम आगे ही रहती है। और इसका समाज को फायदा मिले यह मुख्या उद्देश्य उनको बाकी राजनितिक लोगों से अलग रखता है।

१५ साल एक बहुत बड़ा समय होता है इसमें एक पीढ़ी आगे बढ़ जाट है हम। अगर इसमें भी बुदनी अपने मुख्य मुद्दों को लेकर पिछड़ रहा है तो यह विमलेश आर बी जैसे युवाओ के लिए मौका है की वो अपनी नई शैली से नई सोच से बुदनी को एक नया रूप दे सकते है।

इसके लिए  प्रचार अभियान भी अलग ही रूप में आगे बढ़ रहा है।

मुद्दा कोई भी हो,समस्या कोई भी हो उसको एक नई नजर से देखकर समाज के और नागरिको के हित  में कार्य करने का जज्बा और उनको फायदा पहुंचाने की जो चाह है वो इनमे बहुत ही अच्छे तरीके से झलकती है।

बुदनी ने १५ साल तक एक विधायक मुख्यमंत्री को देखा है और उसके काम को भी देखा हैं। अपनी कम ना होनेवाली समस्याओ से भी बुदनीवासी अवगत हैं।

हर विधानसभा में एक युवा विमलेश आर बी जैसा जरूर होता है। समाज की नजर उसपे नहीं जाती या वो समाज के सामने नहीं आता है और समाज एक अच्छे नेता से वंचित रह जाता है।

पर बुद्निवासियों को संकल्प है एक ऐसे ही युवा को चुनने का और बुदनी को एक नई दिशा देने का। बुदनी की आनेवाली पीढ़ी इस युवा का गुणगान करेगी।

About Bharat Gan

Check Also

लोकसभा 2019: ‘बसपा’ ने जारी किए और 5 उम्मीदवारों के नाम

लखनऊबहुजन समाज पार्टी ने मंगलवार को आगामी आम चुनावों के लिए एक नई लिस्ट जारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *