Thursday , July 18 2019
Breaking News
Home / Business / रुपए में गिरावट और तेल में बढ़ोतरी

रुपए में गिरावट और तेल में बढ़ोतरी

आज रुपए की कीमत सर्वकालिक निचले स्तर पर पहुँच गया है।
डॉलर के मुकाबले में रूपए में लगातार गिरावट पिछले कई दिनों से जारी हैं और इसी लड़ी में डॉलर की कीमतों में इजाफा होते हुए रूपया और टूट गया हैं।
आज डॉलर कि कीमत आज सबसे निचले पायदान पर पहुँचकर 71.79 रुपए हो गयी हैं।
आम जन को गिरते रूपये का बहुत ज्यादा खामियाजा भुगतना पड रहा हैं।
किस पर असर
तेल की कीमते इसी पर आधारित होने की वजह से तेल की कीमतों में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही हैं। कई शहरों में पेट्रोल की कीमतें 90 रुपए प्रति लीटर के आसपास पहुंच गयी हैं।
डीज़ल की कीमतों पर भी इसका अच्छा ख़ासा असर देखने को मिला है। इस वजह से कई शहरों में स्कूल ने फीस बढ़ा दी है ताकि बढाती हुई कीमतों के साथ तालमेल बिठाया जा सके।
जनता में आक्रोश
इस दोहरी मार से आम जनता में काफी आक्रोश दिखाई पड़ता हैं। कई लोग यह सवाल भी पूछ रहे है की यह वही नरेंद्र मोदी और भाजपा है क्या जिन्होंने 2013 में तेल और गैस की कीमतों की वजह से सड़को उतरकर आंदोलन किया था।
कॉर्पोरेट सेक्टर में भी डॉलर की मार पड रही है। जिन उद्द्यमों ने डॉलर में कर्ज लिया है उनकी कर्ज की राशि में बढ़ोतरी दर्ज हो रही है।
सोशल मीडिया
सोशल मीडिया लोगों को अपनी भड़ास निकलने का एक आसान रास्ता है। जिसपर लोगों की विविध प्रतिक्रिया आ रही है।
मजाक में लोग यह भी कह रहे है की दौड़ लगी है की कौन पहले शतक लगाएगा रूपया या पेट्रोल।
सरकार की आलोचना भाजपा के 2013 के बयानों पर ही लोग कर रहे हैं। रुपये की कीमत के साथ साथ नरेंद्र मोदी सरकार की साख गिरती जा रही है।
याद रहे की 2014 के पूर्व नरेंद्र मोदी ने रुपये की कीमतों पर निशाना साधते हुए इसी तरह की आलोचना पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनकी सरकार की की थी।

About Bharat Gan

Check Also

भारत की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका, मंदी के मिलने लगे संकेत, आयकर में 50 हजार करोड़ की कमी

नई दिल्ली:  देश की अर्थव्यवस्था मंदी की तरफ बढ़ रही है, क्योंकि कई प्रमुख आर्थिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *