Saturday , May 25 2019
Breaking News
Home / Country / आज भी बेकाबू पेट्रोल-डीजल के दाम, मुंबई में शिवसेना ने कहा ‘यही हैं अच्छे दिन’

आज भी बेकाबू पेट्रोल-डीजल के दाम, मुंबई में शिवसेना ने कहा ‘यही हैं अच्छे दिन’

देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। रविवार को तेल की कीमतें एक बार फिर गई हैं। दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में 12 पैसे की बढ़ोतरी हुई है, जबकि डीजल की कीमतें 10 पैसे बढ़ी हैं। दिल्ली में अब पेट्रोल की कीमत 80.50 रुपये प्रति लीटर हो गई है, जबकि शनिवार को यह 80.38 रुपये प्रति लीटर था।
वहीं, दिल्ली में डीजल की कीमत अब 72.61 रुपये प्रति हो गई है, जबकि शनिवार को यह 72.51 रुपये प्रति लीटर था। दिल्ली में पहली बार पेट्रोल की कीमत 80 के पार पहुंच गई है। मुंबई में भी पेट्रोल की कीमतों में 12 पैसे की बढ़ोतरी हुई है, जबकि डीजल की कीमत 11 पैसे बढ़ी है। मुंबई में अब पेट्रोल की कीमत 87.89 रुपये प्रति लीटर हो गई है, जबकि डीजल 77.09 रुपये प्रति लीटर है।

तेल की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ मुंबई में शिवसेना प्रदर्शन कर रही है। शहर में जगह-जगह पोस्टर भी लगाए गए हैं, जिसपर लिखा हुआ है, ‘यही हैं अच्छे दिन’। साथ ही पोस्टर में 2015 से लेकर 2018 के बीच पेट्रोल-डीजल और गैस के दामों में कितनी बढ़ोतरी हुई है, यह भी दिखाया गया है।

बता दें कि दिल्ली में जनवरी महीने से पेट्रोल की कीमतों में 10.53 रुपये की बढ़ोतरी हो चुकी है। 1 जनवरी को पेट्रोल की कीमत 69.97 रुपये प्रति लीटर थी, जो अब 80.50 रुपये प्रति लीटर हो गई है।

विशेषज्ञों की मानें तो आने वाले समय में देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें अभी और बढ़ने वाली हैं। तेल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के पीछे सबसे बड़ा कारण डॉलर की मुकाबले रुपये का गिरना है। चूंकि रुपये में लगातार गिरावट आ रही है, इसकी वजह से तेल कंपनियां भी लगातार कीमतों में बदलाव कर रही हैं। इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि तेल कंपनियों को कीमतों का भुगतान डॉलर में करना पड़ता है, जिसकी वजह से उन्हें अपना मार्जिन पूरा करने के लिए तेल की कीमतों में इजाफा करना पड़ रहा है।

केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी शनिवार को कहा था कि देश में तेल की कीमतों में बढ़ोतरी का मुख्य कारण अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये में गिरावट है।

गौरतलब है कि कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के खिलाफ 10 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया है। इसमें कांग्रेस को कई राजनीतिक पार्टियों का समर्थन भी प्राप्त है, जिसमें लालू यादव की राजद और डीएमके प्रमुख पार्टियां हैं।

About admin

Check Also

लोकसभा 2019: ‘बसपा’ ने जारी किए और 5 उम्मीदवारों के नाम

लखनऊबहुजन समाज पार्टी ने मंगलवार को आगामी आम चुनावों के लिए एक नई लिस्ट जारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *